Signal App Kya Hai?, सिग्नल ऐप whatsapp को replace कर सकता है?signal app features.

Table of Contents

Signal App Kya Kai ? Signal App कैसे यूज़ करें ? Signal App Vs WhatsApp .

सिगनल एप बहुत पहले ही लांच हो गया था, लेकिन ज्यादा चर्चा में उस समय आया, जब एलोन मस्क ने कहा use signal. आप सभी जानते हैं व्हाट्सएप ने 5 जनवरी 2021 को प्राइवेसी पॉलिसी से संबंधित नए अपडेट के बारे में बताया कि नई प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट होने के बाद व्हाट्सऐप के डाटा को फेसबुक और इंस्टाग्राम के साथ शेयर करेगी और इस प्राइवेसी पॉलिसी को यूजर द्वारा accept या allow नहीं किया जाता है तो उसका व्हाट्सएप अकाउंट 8 फरवरी 2021 के बाद डिलीट कर दिया जाएगा। 

इस अपडेट से लोगों में काफी नाराजगी जताई गई और लोग WhatsApp का alternative ढूढ़ने लगे। इसी बीच एलोन मस्क ने 7 जनवरी 2021 को ट्विटर के माध्यम से सिग्नल ऐप यूज करने के लिए कहा जो व्हाट्सएप से काफी similar था।

 उसके बाद से सिग्नल ऐप एक ट्रेंडिंग विषय बन गया और लोग Signal App के बारे में जानना चाहते थे कि Signal app kya hai ? Signal App Features क्या है ? Signal App Download कैसे करें ? Signal App को यूज कैसे करें ? लोग Signal App को WhatsApp के Alternative के रूप में भी देख रहे थे इसलिए वह यह भी जानना चाहते थे कि Signal App WhatsApp से कैसे बेहतर है? Signal App Whatsapp से कैसे अलग है? इन सभी सवालों का जवाब नीचे दिया गया है। सिगनल ऐप Android, ios, windows और linux सपोर्टेड डिवाइस के लिए available है।

signal app kya hai

Signal App Review

Signal app kya hai ?

Signal App एक Open Source मैसेंजर सॉफ्टवेयर है जो end to end encryption feature द्वारा मैसेज भेजने की सेवा प्रदान करता है। इस ऐप के द्वारा  यूजर्स टेक्स्ट मैसेज, इमेज,वॉइस और वीडियो भेज सकते हैं। साथ ही इसमें sticker और emoji का यूज करके चैटिंग को और भी ज्यादा इंटरेस्टिंग बना सकते हैं। इसमें group voice calls और group video calls भी कर सकते हैं।

 सिग्नल मोबाइल नंबरों को पहचानकर्ता के रूप में उपयोग करता है इसके अलावा सिग्नल user के किसी भी डाटा को यूज नहीं करता है। सिगनल ऐप end to end encryption की सुविधा देता है इसलिए सभी संचार सुरक्षित रहता है। सिग्नल यह दावा करता है कि वह यूजर की प्राइवेसी और सिक्योरिटी के लिए प्रतिबद्ध है। सिग्नल user के डाटा को यूज नहीं करता है। 

यह ऐप नॉन प्रॉफिटेबल है इसलिए यह कोई विज्ञापन नहीं चलाते हैं, ना ही कोई  monitization प्रोग्राम चलाते हैं। लोगों के बीच यह ऐप Signal App के नाम से चर्चित है लेकिन अभी इस ऐप का नाम Signal Private Messenger है।

हमें उम्मीद है की आपको पूरी तरह समझ आ गया होगा की signal app क्या है ? अगर आपको जानना है की कैसे सिग्नल एप्प whatsapp से ज्यादा अच्छा है तो आपको इसकी जानकारी नीचे मिलेगी।

Signal App को किसने बनाया ? Signal App Founder ?

सिगनल ऐप को सिग्नल फाउंडेशन द्वारा सिक्योरिटी researcher Moxie Marklinspike और व्हाट्सएप के पूर्व को-फाउंडर Brian Acton ने बनाया है। Moxie Marklinspike सिग्नल फाउंडेशन के CEO या संस्थापक है और ब्रायन एक्टन CO-FOUNDER है। 

इसकी शुरुआत फरवरी 2018 में हुई ब्रायन एक्टन व्हाट्सएप के पूर्व को-फाउंडर रह चुके हैं जिन्होंने फेसबुक से विवाद के चलते कंपनी को छोड़ दिया और सिग्नल टेक्नोलॉजी फाउंडेशन के साथ जुड़ गया। व्हाट्सऐप छोड़ने के बाद ब्रायन एक्टन ने 50 मिलियन डॉलर के इनिशियल फंडिंग से सिग्नल फाउंडेशन की शुरुआत की।

 सिग्नल फाउंडेशन एक टैक्स free गैर सरकारी नॉन प्रॉफिटेबल कंपनी है जो यूजर डाटा के प्राइवेसी की सिक्योरिटी के लिए प्रतिबद्ध(commited) है। यह फाउंडेशन non-profitable टैक्स फ्री फाउंडेशन है इसलिए यह डोनेशन से चल रहा है। इनका कहना है कि यह लोगों के सिक्योरिटी और प्राइवेसी पर आधारित मैसेजिंग ऐप सिग्नल पर लगातार काम करते रहेंगे और improve करते रहेंगे।

Signal App का Owner कौन है ? सिगनल एप का मालिक कौन है?

Text secure और encrypted calls के लिए सिग्नल  को Signal App Messenger LLC द्वारा विकसित किया गया था जिसके संस्थापक moxie marklinspike है। इसके बाद 2018 में moxie marklinspike और brian acton द्वारा एक नॉन प्रॉफिटेबल फाउंडेशन की शुरुआत की गई जिसे सिग्नल टेक्नोलॉजी फाउंडेशन कहां जाता है। 

यह फाउंडेशन पूरी तरह से टैक्स मुक्त और नॉन प्रॉफिटेबल है। इस फाउंडेशन के सीईओ मक्सी moxie marklinspike और को-फाउंडर ब्रायन एक्टन द्वारा सिगनल ऐप नए सिरे से लॉन्च किया गया। 

सिगनल ऐप टैक्स मुक्त नॉन-प्रॉफिट कॉरपोरेशन सिग्नल फाउंडेशन के स्वामित्व में है जिसे उनके द्वारा 2018 में बनाया गया था। अर्थात कहा जा सकता है कि moxie marklinspike और brian acton इसके मालिक है या इसके द्वारा बनाई गई सिग्नल फाउंडेशन इस ऐप को owned करते हैं।

सिग्नल ऐप कौन से देश का है ? Signal App kis Country Ka Hai ?

सिगनल टेक्नोलॉजी फाउंडेशन संयुक्त राज्य में स्थित एक गैर लाभकारी टैक्स-मुक्त संगठन है। सिग्नल ऐप को अमेरिकन सिक्योरिटी रिसर्चर Moxie Marklinspike और Brian Acton ने मिलकर बनाया है। अतः Signal App अमेरिका country का ऐप है या अमेरिकन एप्लीकेशन है।

Signal App कब लांच हुआ ? SIgnal App History ?

सिग्नल की शुरुआत whisper system के रूप में हुई थी। whisper system एक start-up कंपनी थी, जिसे सिक्योरिटी रिसर्चर Marklinspike और रोबोसिस्ट रिसर्चर Stuart Anderson द्वारा 2010 में बनाया गया था, जिसके को फाउंडर moxie marklinspike और stuart anderson ही थे।

 इस कंपनी द्वारा इंक्रिप्टेड टेक्स्ट सिक्योर और इंक्रिप्टेड वॉइस कॉलिंग ऐप Signal का बीटा वर्जन redphone के लिए मई 2010 में लांच किया गया। यह कंपनी डाटा इंक्रिप्शन के लिए फायरवॉल और टूल्स बनाने का काम करती थी। 

नवंबर 2011 को whisper system द्वारा announce किया गया कि whisper system ट्विटर द्वारा acquire किया जा रहा है। मॉक्सी मार्कलिंसपाइक ने शुरुआत में ट्विटर में सिक्योरिटी इंप्रूवमेंट के लिए काम किया। 

मोक्सी ने 2012 के बाद ट्विटर छोड़ दिया और फिर 2012 के बाद moxie marklinspike ने whisper system को ओपन सोर्स प्रोजेक्ट के रूप में नए सिरे से स्थापना की। मार्च 2017 में moxie ने whisper system को Signal’s calling system में बदल दिया। उसके बाद 21 फरवरी 2018 को moxie marklinspike और व्हाट्सएप के पूर्व को-फाउंडर brian acton द्वारा सिग्नल फाउंडेशन की घोषणा की गई।

Signal App Download कैसे करें ?

सिग्नल ऐप्प डाउनलोड करना बहुत ही आसान है ,जैसे दूसरे ऐप को डाउनलोड करते हैं उसी प्रकार से इसे भी डाउनलोड कर सकते हैं। यह ऐप सभी ऐप स्टोर्स पर फ्री में available है।

Signal App Download For Android

सिगनल ऐप को डाउनलोड करने के लिए अपने मोबाइल में प्ले स्टोर को ओपन कर लेते है । उसके बाद सर्च बार में सिग्नल ऐप सर्च करते है। सर्च करने के बाद सर्च लिस्ट में Signal Private Messenger के नाम से यह ऐप आता है, जिसे उसका आइकन देखकर टच कर लेते हैं।

इसके बाद डाउनलोड पेज ओपन हो जाएगा। install button पर क्लिक करके इसे डाउनलोड और इंस्टॉल कर लेते हैं।

आप चाहे तो सिग्नल ऐप को इसके ऑफिशियल वेबसाइट signal.org में जाकर डाउनलोड कर सकते हैं। play store में अभी सिगनल ऐप के 50 मिलियन से ज्यादा डाउनलोडर हैं और 4.4 स्टार की रेटिंग है।

Signal App Download For ios

अगर आप iphone इस्तेमाल करते हैं तो आप ऐप स्टोर में जाकर सिगनल ऐप यानी signal private messenger app को डाउनलोड कर सकते हैं। या इसके ऑफिशियल वेबसाइट सिग्नल signal.org में जाकर इसे डाउनलोड कर सकते हैं।

Signal App download For Pc

Signal App एक cross centralized application प्लेटफॉर्म है।तो आप इसे मोबाइल के साथ साथ कंप्यूटर और लैपटॉप में भी चला सकते हैं। 

signal app को computer में डाउनलोड करने के लिए उसके वेबसाइट signal. org में जाएं। वहां पर आपको डाउनलोड का ऑप्शन मिल जाएगा।उसके बाद अपने कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम से रिलेटेड सिगनल ऐप डाउनलोड कर लीजिए। डाउनलोड करने के बाद, दूसरे app को जैसे install करते है वैसे ही इसे भी install कर लीजिए। signal app को पीसी में कैसे यूज़ करे? इसकी जानकारी आगे दी गई है।

Signal App में Account कैसे बनाए ?

सिगनल ऐप whatsapp से काफी similar app है। इसमें भी रजिस्ट्रेशन करने या अकाउंट बनाने की प्रक्रिया लगभग व्हाट्सएप की तरह ही है। सबसे पहले अपने मोबाइल में सिगनल ऐप को इंस्टॉल कर लीजिए उसके बाद निम्न स्टेप्स follow कीजिए :-

Step 1 : अपने मोबाइल में signal app open कर लीजिए। open करने के बाद नीचे दिए गए इमेज की तरह एक पेज ओपन होगा, जिसमें countinue का बटन दिया हुआ है उस पर टच करना है।

Step 2 : countinue के बटन पर टच करने के बाद आपके मोबाइल स्क्रीन में अगला पेज open होगा, जिसमें बताया गया है कि यूजर द्वारा चैटिंग करने के लिए या सिक्योर कॉल्स करने के लिए सिगनल ऐप को यूजर्स के कांटेक्ट और मीडिया को access करने की आवश्यकता होगी। इस पेज में नीचे countinue का बटन दिया हुआ है जिस पर टच करते हैं। countinue button पर टच करने पर अगला पेज ओपन होता है।

Step 3 : इसके बाद सिग्नल के द्वारा कांटेक्ट के एक्सेस के लिए Allow मांगा जाता है। Allow के बटन पर टच करते हैं।

Step 4 : Allow button पर टच करने के बाद अगला पेज ओपन होता है जिसमें सिग्नल ऐप आपके मोबाइल की फोटोस, मीडिया और फाइल्स के access के लिए Allow (permission) मांगता है। Allow के बटन पर टच करते हैं।

Step 5 : इसके बाद सिग्नल ऐप फोन कॉल्स और फोन कॉल्स को मैनेज करने के लिए Allow मांगता है। Allow buttun पर टच करते हैं।

Step 6 : इसके बाद अगला पेज ओपन होता है। इसमें country का नाम और मोबाइल नंबर enter करने के लिए बोला जाता है। मोबाइल के वेरिफिकेशन के लिए country nameऔर मोबाइल नंबर डालने के बाद नीचे दिए गए next button पर टच करते हैं।

Step 7 : next button पर टच करने के बाद अगला पेज आता है, जिसमें वेरिफिकेशन के लिए आपके मोबाइल नंबर पर एक कोड (OTP) आता है जिसे सिगनल ऐप द्वारा ऑटोमेटिक डिटेक्ट कर लिया जाता है। यदि ओटीपी नहीं आता है तो calls के द्वारा वेरीफिकेशन कर सकते हैं।

Step 8 : वेरीफिकेशन प्रोसेस होने के बाद Set up user profile के नाम से पेज ओपन होता है, जिसमें अपना नाम लिखते हैं और कैमरे के आइकन पर क्लिक करके प्रोफाइल फोटो सेट कर लेते हैं। इसके बाद नीचे दिए गए next बटन पर टच करते हैं।

Step 9 : इसके बाद नए पेज में 4 अंकों का पिन create करने के लिए बोला जाता है जिससे आप अपने contacts,सेटिंग,प्रोफाइल को रिकवर कर सकते हैं। चार नम्बरों का पिन नंबर डालने के बाद create new पिन पर टच करते हैं। इसके बाद पिन को फिर डालने के लिए बोला जाता है। डाले गए पिन नंबर को re-enter करने के बाद नीचे दिए गए next button पर टच करते हैं।

Step 10 : next बटन पर टच करने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन सेटअप पूरा हो जाता है और आपका अकाउंट बन जाता है। और आपके मोबाइल पर सिगनल ऐप का मुख्य पेज ओपन हो जाता है जो यूज करने के लिए रेडी है।

 नीचे पेंसिल का आइकन दिया होता है जिसमें टच करके आपके कांटेक्ट में जो signal app user है उसके नाम का लिस्ट आ जाएगा।  यदि आपके कांटेक्ट लिस्ट में कोई signal app user नहीं है तो आप उसे सिगनल एप यूज़ करने के लिए invite कर सकते हैं।

Signal App यूज़ कैसे करे ?( How To Use Signal App In Hindi )

Signal app, whatsapp के जैसा ही एक messenger app है। सिगनल ऐप के मुख्य पेज में पेंसिल के निशान पर क्लिक करते हैं तो जो भी आपके कांटेक्ट में से Signal App use करता है तो उसका लिस्ट आपके मोबाइल स्कीन में आ जाएगा।

 उस लिस्ट में से आप जिस किसी को भी मैसेज भेजना चाहते हैं उसके नाम के आइकन पर टच करके मैसेज कर सकते हैं। मैसेज भेजने के लिए मैसेज टाइप करके पेंसिल के आइकन को टच करते हैं। इसमें दिए गए प्लस के आइकन को टच करके आप photo, video, document भेज सकते हैं।

 इसमें आप ग्रुप बनाकर ग्रुप चैटिंग भी कर सकते हैं। साथ ही group calls व group video calls भी कर सकते हैं। अगर कोई person आपके चैटिंग लिस्ट में नहीं है तो उसे सिग्नल ऐप यूज़ करने के लिए invite मैसेज भी भेज सकते हैं। इस तरह से हमने Signal App कैसे यूज़ करे ? या ( Signal App Kaise Chalaye ) यह जान लिया।अब Signal App Features क्या है, ये जानते हैं।

Signal App Features क्या-क्या है ?

Signal App Features 

Signal App व्हाट्सएप के जैसा ही मैसेंजर एप है। इसलिए इसके काफी फीचर्स भी इसके जैसा ही है, लेकिन इसमें कुछ खास अलग फीचर्स भी हैं-

1. Theme, font and colors

इस ऐप में आप सेटिंग के appearance फीचर्स में जाते हैं तो आपको इसमें theme को डार्क करने, लैंग्वेज बदलने, चैट कलर को चेंज करने, चैटिंग wallpaper को बदलने और मैसेज font को बदलने का ऑप्शन मिल जाता है जिसे आप अपने कंफर्ट के अनुसार चेंज कर सकते हैं।

2. Message, calls and video calls

Signal app में हम मैसेज भेज सकते हैं, साथ ही हम इमेज, वीडियो और डॉक्यूमेंट भी भेज सकते हैं। इसमें वॉइस कॉल्स और वीडियो कॉल्स की भी सुविधा है। यह सभी मैसेजेस सिक्योर और प्राइवेट होता है इसमें sticker और emoji के द्वारा चैटिंग को और भी interesting बना सकते हैं। Signal App Sticker के द्वारा भी आप चैटिंग को और भी मजेदार बना सकते हैं।

3. Set timer feature

सिगनल एप एक disappearing mesaage फीचर देता है। इस फीचर के द्वारा हम किसी व्यक्ति को मैसेज भेजते हैं तो उस समय हम टाइमर सेट कर सकते हैं। इससे आपके द्वारा भेजा गया मैसेज सेट किए गए टाइम के बाद सामने वाले user को नहीं दिखेगा। इससे फायदा यह होगा कि सामने वाला user आपके द्वारा भेजे गए मैसेज या डाक्यूमेंट्स का स्क्रीनशॉट नहीं ले पाता है तो वह किसी दूसरे कैमरे से आपके मैसेज की फोटो ले सकता है। इस फीचर के द्वारा इससे बचा जा सकता है। 

अगर आप किसी को कोई important मैसेज भेज रहे हैं और आप चाहते हैं कि सामने वाले व्यक्ति को एक निश्चित समय के लिए यह मैसज दिखे साथ ही वह आपके मैसेज की फोटो ना ले पाए या स्टोर ना कर पाए तो यह फीचर इसमें बहुत उपयोगी है।

4. Typing… indicator Feature

सिगनल ऐप में टाइपिंग इंडिकेटर जैसे फीचर हैं। जब आप टाइपिंग करते हैं तो सामने वाले व्यक्ति को यह पता चल जाता है कि आप मैसेज टाइप कर रहे हैं। लेकिन जब आप टाइपिंग इंडिकेटर को ऑफ कर देते हैं तो आपके द्वारा टाइपिंग करने पर सामने वाले व्यक्ति को पता नहीं चलेगा कि आप टाइप कर रहे हैं या नहीं।

5. Read Reciept Feature

इस ऐप में रीड रिसिप्ट फीचर्स है। अगर कोई मैसेज हमें भेजता है और उस मैसेज को देखते हैं तो blue tick के द्वारा भेजने वाले को पता चल जाता है कि आपने मैसेज देख लिया है। लेकिन रीड रिसिप्ट फीचर ऑफ करने के बाद सामने वाला व्यक्ति यह नहीं जान पाएगा कि आपने मैसेज देखा है या नहीं।

6.  Group calls and group video calls

इस ऐप में ग्रुप calls और वीडियो calls करने की सुविधा देता है। इसमें calls और वीडियो calls करना काफी सिक्योर होता है क्योंकि यह सब encrypted होता है । आप एक बार में 8 लोगों के साथ ग्रुप वीडियो कॉल्स कर सकते हैं।

7.  Screenshot restriction Feature

सिगनल ऐप में screen security के नाम से एक फीचर है। इस स्क्रीन सिक्योरिटी का फायदा यह है कि कोई भी दूसरा यूज़र आपके साथ हुए चैट का स्क्रीनशॉट नहीं ले सकता। यह फीचर ऐप में पहले से enable रहता है। यह signal user की प्राइवेसी के लिए काफी अच्छा फीचर है।

8. Linked devices

यह signal app का बहुत अच्छा feature है। इस फीचर के द्वारा आप सिगनल ऐप को अन्य डिवाइस जैसे कंप्यूटर या लैपटॉप में चला सकते हैं। आपके कंप्यूटर में signal app open करने पर जो QR कोड दिया होता है उसे आपके मोबाइल में signal app में दिए गए linked devices ऑप्शन पर क्लिक करके स्कैन किया जा सकता है और आप सिगनल ऐप को कंप्यूटर के द्वारा ऑपरेट कर सकते हैं।

9. Signal pin 

सिगनल ऐप में सिग्नल पिन नाम का feature है। सिग्नल ऐप में जब आप अकाउंट बनाते हैं तो उसी समय सिग्नल पिन सेट करने का ऑप्शन आता है। इस फीचर का फायदा यह है कि जब आप सिग्नल को अन्य डिवाइस में re-install करते हैं तो सिग्नल पिन से आप अपनी प्रोफाइल, सेटिंग और कांटेक्ट से रिलेटेड डाटा रिकवर कर सकते है।

10. Mention in group

इस फीचर का यह फायदा है कि आप किसी ग्रुप में किसी एक मेंबर को मेंशन करके मैसेज भेज सकते हैं अर्थात आप जो मैसेज भेजोगे उसे आपके द्वारा मेंशन किया हुआ ग्रुप सदस्य ही देख सकता है ग्रुप का और कोई अन्य सदस्य नहीं। ग्रुप के अन्य सदस्यों को उनका नाम या प्रोफाइल ही दिखेगा मैसेज नहीं। आप ‘ @ ‘ चिन्ह के बाद ग्रुप मेंबर का नाम लिखकर उसे मेंशन कर सकते हैं।

11. Delete for everyone

अगर आप कोई मैसेज जिसे भेजना चाह रहे हैं उसे ना भेजकर गलती से किसी दूसरे व्यक्ति को भेज दिया या किसी दूसरे ग्रुप में भेज दिए, तो आप delete for everyone ऑप्शन का यूज करके उस मैसेज को अपने और सामने वाले व्यक्ति के मोबाइल से डिलीट कर सकते हैं।

12. Add Member Feature

अगर हम व्हाट्सएप की बात करें तो उसमें किसी ग्रुप मेंबर को जोड़ना होता है तो ग्रुप एडमिन अपने कांटेक्ट में से या ग्रुप मेंबर द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर को सामने वाले व्यक्ति के बिना अनुमति लिए उसे group में add कर सकता है।

अगर हम व्हाट्सएप की बात करें तो उसमें किसी ग्रुप मेंबर को जोड़ना होता है तो ग्रुप एडमिन अपने कांटेक्ट में से या ग्रुप मेंबर द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर को सामने वाले व्यक्ति के बिना अनुमति लिए उसे group में add कर सकता है।

 लेकिन सिग्नल ऐप में किसी ग्रुप एडमिन अगर कोई मेंबर ऐड करना चाहता है तो वह directly या उसके बिना अनुमति के ग्रुप में ऐड नहीं कर सकता। ग्रुप एडमिन किसी व्यक्ति को ग्रुप में ऐड होने के लिए रिक्वेस्ट भेजता है, जिसके पास रिक्वेस्ट भेजा गया है उस यूजर के पास ग्रुप में ऐड होने के लिए नोटिफिकेशन जाता है। यदि वह ग्रुप में ऐड होना चाहता है तो रिक्वेस्ट को accept कर लेता है और ग्रुप में add नहीं होना चाहता है तो वह accept नहीं भी कर सकता है यह उसकी मर्जी पर depend करता है।

13. Backup

इस ऐप में डेटा आपके मोबाइल में ही स्टोर होता है। अगर आप सिग्नल ऐप को नए फोन में चलाना चाहते हैं और सिगनल ऐप को re-installing करते हैं तो आप अपने पुराने डिवाइस से चैट history का बैकअप ले सकते हैं। बैकअप लेते समय आपको 30 अंकों का एक कोड मिलेगा। इस कोड को जब आप नए फोन में रजिस्ट्रेशन करते समय डाटा का बैकअप लेंगे, तब उस समय इस कोड को डालने के लिए बोला जाएगा। जिससे आपका पुराना चैट हिस्ट्री आपके मोबाइल में आ जाएगा।

14. End To End Encryption

सिगनल एप आपको end to end इंक्रिप्शन फीचर प्रदान करता है। इस feature के द्वारा सिग्नल ऐप आपके मैसेज को इंक्रिप्टेड फॉर्म में भेजता है अर्थात कोई थर्ड पार्टी आपके मैसेज को पढ़ नहीं सकता है। इसलिए यह बहुत सिक्योर और प्राइवेट है।

अब आप सोच रहे होंगे कि यह end to end encryption क्या है? इसे समझने से पहले encryption क्या होता है इसे जान लेते हैं। दरअसल इंक्रिप्शन एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा आप के डाटा को एक कोड के रूप में बदल दिया जाता है। जैसे उदाहरण के लिए आपने किसी को “hello” मैसेज भेजा तो sender का encryption key ‘hello’ को “%@%&$” की तरह एक कोड के फॉर्म में बदल देता है। जिसे receive करने वाले के मोबाइल का encryption key वापस उसे “hello” के रूप में बदल देता है।

 चूँकि आपका डाटा बिना किसी server में स्टोर हुए सीधे एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल में जाता है। इसलिए इसे end to end इंक्रिप्शन कहते हैं। इसका फायदा यह है कि यदि कोई थर्ड पार्टी आपका डाटा चुरा लेता है तो उसे यह समझ में नहीं आएगा क्योंकि आपका message कोड के फॉर्म में रहेगा। इसलिए यह एक बहुत ही सिक्योर है।

15. No ads and no advertizement

आप जानते हैं कि बहुत से messaging app हैं जिन पर ढेरों ads और advertisement आते रहते हैं। लेकिन सिग्नल ऐप एक नॉन प्रॉफिटेबल ऐप है इसलिए इसमें कोई ads या advertisement नहीं आता है।

16. Use as default sms app

इस ऐप में use as default messaging app जैसा एक फीचर है जिसके द्वारा आप इसे नॉर्मल मैसेज भेजने के लिए भी use कर सकते है। लेकिन यह sms एन्क्रिप्टेड नहीं होगा।

17. Disappearing message

सिग्नल ऐप में disappearing message फीचर है। जिसके द्वारा हम चैट section में से चैट्स को गायब कर सकते है। जब हम सिग्नल ऐप में चैटिंग करते रहते है तो हमारा chat सेक्शन पूरा भर जाता है। इसी प्रॉब्लम को यह फीचर दूर करता है। इसमें हम टाइमर सेट करते है। जिससे हमारे द्वारा मैसेज एक बार देखने के बाद सेट किये टाइम के बाद मैसेज चैट सेक्शन से गायब हो जाता है। इस फीचर में मैसेज को एक बार देखने के बाद मैसेज गायब हो जाता है इसलिए view once फीचर भी कहते है।

Signal App को Pc में कैसे चलाए ? ( Signal App Ko Computer Me Link kaise Kare )

Signal App की एक खास बात यह है कि आप इसे comuter या laptop में भी चला सकते हैं। अगर आप computer या laptop पर काम कर रहें है और आपको को सिग्नल ऐप यूज़ करना है तो मोबाइल की जगह आप इस ऐप को चला सकते हैं।

Signal App को कंप्यूटर या लैपटॉप में चलाने के लिए निम्न steps follow कीजिए :

Step 1 : सबसे पहले आप cumputer में सिग्नल ऐप डाउनलोड कर लीजिए । इस app को आप सिग्नल के official website से डाउनलोड कर सकते हैं। Signal App Computer में Download करने के बाद उसे install कर लीजिए।

Step 2: install करने के बाद signal app को अपने कंप्यूटर में open कर लीजिए । open करने के बाद उसमें एक QR code दिखेगा। जिसे अपने mobile द्वारा scan करना है। जिस मोबाइल द्वारा स्कैन किया जा रहा है उस मोबाइल में आपका मोबाइल नंबर पहले से सिग्नल ऐप में ragister होना चाहिए। QR Code को mobile से कैसे Scan करे, इसे अगले step में जानते है।

Step 3 : mobile द्वारा QR Code Scan करने के लिए आप अपना मोबाइल open कर लीजिए। उसके बाद right साइड में ऊपर दिख रहे तीन dots पर touch करे। उसके बाद setting ऑप्शन पर touch करे।

Step 4 : setting ऑप्शन पर touch करने के बाद Linked Devices ऑप्शन पर touch करे।

Step 5 : उसके बाद एक पेज open होगा जिसमें नीचे plus ( + ) का आइकॉन होगा। उस प्लस ( + ) पर touch करते हैं। प्लस आइकॉन पर टच करने के बाद आपके के मोबाइल में QR कोड scanner ओपन हो जाएगा। जिससे कंप्यूटर में सिग्नल ऐप के QR code को स्कैन करके सिग्नल ऐप को कंप्यूटर में link कर लेते हैं या register कर लेते हैं । इसके बाद आप सिग्नल ऐप को अपने कंप्यूटर में चला सकते हैं। 

अगर आप अपने कंप्यूटर से किये गए सिग्नल ऐप linking को हटाना चाहते हैं तो अपने मोबाइल में signal app के setting में जाकर unlinked devices पर click करते हैं, जिससे आपका  सिग्नल ऐप का linking आपके computer से समाप्त हो जाता है।

Signal App Vs WhatsApp In Hindi

क्या Signal App Whatsapp से बेहतर है ?( Is Signal App Better Than Whatsapp? )

आप सभी जानते ही है की जैसे ही व्हाट्सऐप के द्वारा प्राइवेसी पॉलिसी में अपडेट की बात कही गई, उसके बाद whatsapp से नाराज लोगों ने व्हाट्सऐप का अल्टरनेटिव app ढूढ़ने लगे। इसी बीच पॉपुलर हुआ सिग्नल ऐप, जो लगभग व्हाट्सएप की तरह ही काम करता था।

अगर हम सिग्नल ऐप की बात करें तो यह non-profitable सिग्नल फाउंडेशन द्वारा बनाया गया है जिसका उद्देश्य लोगों की सिक्योरिटी और प्राइवेसी को बनाए रखना है। लेकिन व्हाट्सएप की बात करें तो अपडेट के पहले इसकी प्राइवेसी और security पालिसी पहले ठीक थी, लेकिन व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी और  सिक्योरिटी पॉलिसी आने के बाद व्हाट्सएप यूजर के डाटा को अपने पैरेंट कंपनी फेसबुक और इंस्टाग्राम के साथ शेयर कर सकता है advertisement purpose के लिए।

Signal App Security और Privacy Policy के प्रति प्रतिबद्धता प्रकट करता है और भविष्य में भी किसी प्रकार से प्राइवेसी और सिक्योरिटी पॉलिसी में बदलाव न करने की बात कही गई है। सिग्नल नॉन-प्रॉफिटेबल है इसलिए यह फ्री है और इसमें किसी प्रकार का ads या monetization नहीं किया जाता है। सिगनल ऐप द्वारा यूजर के किसी भी डाटा को रीड नहीं किया जाता है अतः प्राइवेसी और सिक्योरिटी के मामले में सिग्नल व्हाट्सएप से बेहतर है।

अगर फीचर की बात करें तो दोनों में काफी similar फीचर है तथा कुछ अलग अलग फीचर भी हैं सिग्नल और व्हाट्सएप दोनों द्वारा प्रदान की जाने वाली खास फीचर की बात करें तो दोनों ही एप में end to end encryption मैसेज की सुविधा दी गई है। जिससे आपका data secure रहता है। कोई third पार्टी इसे यूज़ नहीं कर सकता है।

दोनों ही app में calls और video calls की सुविधा दी गई है। सिग्नल ऐप में linked devices, read reciept, delete for everyone, disappeaeing message जैसे खास features है तो whatsapp में भी अपडेट के बाद linked devices, read reciept, delete for everyone, disappearing message feature दिया गया। यानि दोनों app में एक दूसरे से बेहतर होने की होड़ लगी हुई है। दोनों ही app में message भेजने, calls या video calls करने की सुविधा लगभग समान है।

अगर user interface की बात करे तो whatsapp सिग्नल ऐप से थोड़ा सा आगे है। whatsapp का user interface signal app से थोड़ा सा ज्यादा अच्छा है। लेकिन इसका यह मतलब नही की सिग्नल ऐप का user interface बुरा है, सिग्नल ऐप का यूजर इंटरफ़ेस भी काफी अच्छा और user friendly है।

वहीं Signal App और Whatsapp के फीचर को Compare करे तो सिग्नल ऐप और व्हाट्सऐप फीचर के मामले में समान है। सिग्नल ऐप में typing indicator जैसे feature दिया गया है जिसे off करने पर सामने वाला यूजर को आपके द्वारा message पढ़ने पर blue tick का निशान नही दिखेगा। सिग्नल app में set message timer, screenshot restriction, signal pin जैसे एक्स्ट्रा फीचर दिया गया है।

सिगनल ऐप में ग्रुप में किसी व्यक्ति को जोड़ने के लिए उसे रिक्वेस्ट भेजा जाता है जबकि व्हाट्सएप में किसी भी व्यक्ति को उसके अनुमति के बिना ग्रुप में ऐड किया जा सकता है। सिगनल ऐप में किसी ग्रुप में किसी एक सदस्य को मेंशन करके मैसेज भेजा जा सकता है। जिससे मैसेज को ग्रुप के अन्य सदस्य नहीं देख सकते, जबकि व्हाट्सएप में ऐसा कोई feature नहीं है।

अगर व्हाट्सएप की बात करें तो लोगों के बीच सबसे ज्यादा लोकप्रिय feature है तो वह स्टेटस फीचर है। जिसमें लोग फोटो या शार्ट वीडियो डालकर अपनी फीलिंग या स्टेटस को बताते हैं। सिगनल ऐप में स्टेटस फीचर नहीं है लेकिन भविष्य में सिग्नल ऐप में भी स्टेटस फीचर हमको देखने को मिल सकता है।

व्हाट्सऐप में whatsapp payment फीचर अपडेट के बाद लाया गया है। इसमें जो पेमेंट का फीचर है वह भारत की भीम यूपीआई पर आधारित है। वही सिग्नल ऐप में कोई पेमेंट फीचर नहीं है, लेकिन सिग्नल UK में पेमेंट फीचर लॉन्च कर चुकी है जिसमें पेमेंट mobile coin के रूप में किया जाता है। भविष्य में सिग्नल अन्य देशों में पेमेंट फीचर ला सकती है।और भारत में भी सिग्नल ऐप payment पेमेंट feature ला सकती है। भारत मे digital payment policy के अंतर्गत कोई भी डिजिटल पेमेंट app, bhim UPI के द्वारा ही पैसों के लेन-देन की सुविधा प्रदान कर सकती है।

Signal app के कुछ खास फीचर तथा प्राइवेसी और सिक्योरिटी पॉलिसी के प्रति अपनी कमिटमेंट के कारण सिक्योरिटी और प्राइवेसी के मामले में Signal App Whatsapp से बेहतर है। 

फीचर की बात करे तो सिग्नल ऐप में whatsapp से अलग कुछ खास फीचर दिया गया है तो whatsapp में भी सिग्नल ऐप से अलग कुछ खास फीचर दिया गया है। अर्थात फीचर के मामले में दोनों आप लगभग समान है।

लेकिन व्हाट्सऐप का user interface सिग्नल ऐप के यूजर इंटरफेस से थोड़ा ज्यादा यूजर फ्रेंडली है। इस तरह आपको जवाब मिल गया होगा कि Signal app और Whatsapp में क्या Difference है ? या Signal App और Whatsapp में कौन बेहतर है। हमने इसमे इस टॉपिक के बारे में भी जानकारी हासिल की Compare Signal And Whatsapp In Hindi. और which Is Better Whatsapp Or Signal.

Kya Signal App Safe Hai ? Is Safe Signal App Safe ?

सिग्नल ऐप end-to-end encryption की सुविधा प्रदान करता है जिससे आपके द्वारा भेजा गया data सीधे receive करने वाले के पास जाता है । इसमें डेटा enceypted फॉर्म में होता है तो कोई भी थर्ड person, data का यूज़ नहीं कर सकता है। सिग्नल app में आपका data आपके मोबाइल में स्टोर होता है। इसलिए और ज्यादा security मिल जाती है। अतः कहा जा सकता है कि Signal App Safe है।

Signal App के फायदे क्या है ?

इस समय मार्केट में बहुत से मैसेजिंग ऐप हैं। सिग्नल ऐप भी उसी तरह का एक मैसेजिंग ऐप है लेकिन privacy और security के मामले में यह दूसरे एप्लीकेशन से बेहतर है। सिग्नल app कंपनियों में डॉक्यूमेंट आदान-प्रदान के लिए बहुत popular है क्योकिं यह बहुत ही privacy और security प्रदान करने वाला app है।

सिग्नल ऐप के बारे में प्रायः लोगो के द्वारा पूछे जाने वाले निम्न है

Signal App Quality Kaisi Hai ?

Signal App Image Quality, Signal App Call Quality, Signal App Video Quality और Signal App Video Call Quality काफी अच्छा है। इसमें group कॉल्स और group video calls की फैसिलिटी भी दी गयी है।

Signal App कैसा है ? Signal App Good Or Bad ?

Signal App के Feature बहुत अच्छे हैं। इसका यूज़र इंटरफ़ेस user friendly है औऱ इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह end to end इंक्रिप्शन फैसिलिटी देता है इसलिए यह बहुत सिक्योर है। इसलिए कहा जा सकता है कि सिग्नल ऐप एक अच्छा ऐप है।

Signal App Group Member Limit

अगर whatsapp की बात करे तो उसमें एक ग्रुप में 256 मेंबर रह सकते हैं। लेकिन Signal App में Group Member Limit 1000 है अर्थात सिग्नल ऐप में एक ग्रुप में 1000 लोग जुड़ सकते हैं।

Open Source Software क्या है ?

Open source सॉफ्टवेयर एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर है एक लाइसेंस के तहत जारी किया जाता है जिसमे कॉपीराइट धारक उपयोगकर्ताओ को किसी को भी और किसी भी उद्देश्य के लिए सॉफ्टवेयर और उसके स्रोत code का उपयोग, अध्यन, परिवर्तन और वितरित करने का अधिकार देता है। Signal App भी एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है अर्थात इसके कोड भी ओपन होते हैं । जिससे उपयोगकर्ता इसके स्रोत कोड का उपयोग करके इसके improvement के लिए इसके फीचर में या app में रहोद बदलाव कर सकते हैं। open source software होने से विशेषज्ञ या expert इस पर निगरानी रख सकते हैं कि app में क्या बदलाव किया जा रहा है।

Signal App में Video Call कैसे करे? या सिग्नल App में Voice Call कैसे करे?

सिग्नल ऐप में voice और video call करने की सुविधा भी दी गई है। इसमें voice call और video call करना बहुत आसान है। सिग्नल ऐप में जिसके साथ भी voice call करना है, उसके नाम के आइकॉन पर touch करे। टच करने पर ऊपर right side में call का आइकॉन है उसे टच करके आप वौइस् कॉल कर सकते है । साथ ही ऊपर right साइड में video call का आइकॉन भी दिया होता है । उसपर टच करके आप video call का भी आनंद ले सकते है।

निष्कर्ष

अभी social media के बाजार में बहुत सारे messaging app हैं जिसमे Signal App एक नए messaging app के रूप में उभरा है। हमने इस पोस्ट में जाना की Signal app kya hai ? Signal App कैसे यूज़ करे ? Signal App Feature क्या है ? Signal App Download कैसे करे ? और भी बहुत कुछ। यह पोस्ट कैसा लगा कमेंट में जरूर बताए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top